स्विस बैंक की गोपनीयता का युग समाप्त, स्विट्जरलैंड कल देगा भारतीयों के खातों की जानकारी
स्विस बैंक की गोपनीयता का युग समाप्त, स्विट्जरलैंड कल देगा भारतीयों के खातों की जानकारी

स्विस बैंक की गोपनीयता का युग समाप्त

Switzerland ने आज नई दिल्ली में कर अधिकारियो के सामने भारतीयो के बैंक खातों की जानकारी साझा करने का दावा किया है! यही वजह है की दोनों देशों के बीच सूचनाओं का अदन प्रदान तेज हो गया है! जिससे काले धन की जानकारी सीधे आम जनता तक पहुंच पाएगी और काले धन पर रोक लग पायेगी!

हालांकि इस जानकारी को देने से पहले उन्होंने कुछ कड़े नियम बनाये है! जिसका पालन भारत को करना पड़ेगा! इस लिए गए फैसले की सराहना करते हुए केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT ) ने कहा की काले धन के खिलाफ सरकार का यह बड़ा कदम है हम इसका स्वागत करते हैं!

स्विट्जरलैंड आज देगा भारतीयों के खातों की जानकारी

अब स्विसबैंक की गोपनीयता समाप्त होने को है इसके लिए CBDT नियम तैयार करती है! स्विट्जरलैंड के अधिकारियो ने पहले ही लगभग 50 अकॉउंट धारको के नाम नोटिस जारी कर दी है! स्विट्जरलैंड ने इसकी जानकारी भारत सरकार को देने से पहले उन खाताधारकों को एक आख़िरी मौका दिया है! की वो इसके खिलाफ अपील कर सकते है!

ये भी पढ़े : रानू मंडल और हिमेश रेशमिया के गाने ने मचाया धूम मिम्स, हो रहे वाइरल देखे VIDEO

इस लिस्ट में ज्यादातर जमीन -जायदाद, वित्तीय सेवा, प्रौद्योगिकी, दूरसंचार, होम डेकोरेशन, कपडा, इंजिनीरिंग सामान! और रत्न एवं आभूषण जैसे क्षेत्रों से जुड़े कारोबारियो और कम्पनियो के नाम है! यह सूचना दोनों देशो के विभागीय अधिकारियो ने दी है!
इस जानकारी के पहले बीते 29 और 30 अगस्त के बीच स्विट्जरलैंड के एक प्रतिनिधिमंडल ने भारतीय राजस्व सचिव एबी पांडे सीबीडीटी चेयरमैन पीसी मोदी! और सीबीडीटी सदस्य अखिलेश रंजन से मुलाकात की थी!

जिसमे कर विभाग के उप प्रमुख निकोलस मारियो लूस्कर के नेतृतवा में प्रतिनिधिमंडल अंतराष्ट्रीय वित्त के लिए सिचवालय में आया था! रिपोर्टों के साझा मानको के प्रावधानों के अनुसार सितम्बर से वित्तीय खातों की सूचनाओं की आदान प्रदान शुरू कर दिया जायेगा!
CBDT ने अपने एक बयान में कहा भारत को सत्र 2018 के सभी भारतीय वित्तीय खातों की जानकारी दी जाएगी! जो की स्विट्जरलैंड में है! इसमें उन खातों की भी जानकारी शामिल है जो 2018 में बंद किये गये थे!

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here