स्वामी विवेकानन्द से जुड़ी 5 रोचक बाते | 5 interesting things related to Swami Vivekananda

पुरे भारत वर्ष में 12 जनवरी को स्वामी विवेकानन्द की जयंती मनायी जाती है! और साथ ही साथ पुरे भारत वर्ष में इस महात्वपूर्ण दिन को “युवा दिवस ” के रूप में भी मनाया जाता है! स्वामी विवेकानन्द एक प्रभावशाली व्यक्तित्व्य के धनी व्यक्ति थे! जिन्होंने अपना सम्पूर्ण जीवन एक सन्याशी के रूप में जिया! हिंदुत्वता में जागरूकता फैलाने और पाश्चिमात्य देशो को योगा और वेदांत का ज्ञान देने के लिये वे प्रसिद्ध है! आज इस आर्टिकल के माध्यम से उनसे जुड़ी कुछ रोचक बाते जानते है! जो किसी भी व्यक्ति का जीवन और उद्देश्य को पूर्णतया बदले के लिए प्रेरणादायी बन सकता है!

स्वामी विवेकानन्द से जुड़ी 5 रोचक बाते

विवेकानंद की ये कहानियां उनको बनाती हैं

1- स्वामी विवेकानंद के बचपन का नाम नरेंद्रनाथ दत्त था! विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 को कोलकाता में हुआ था! पुरे भारत वर्ष में इस दिन को युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है!

2- 1893 में स्वामी विवेकानंद ने अमेरिका के शिकागो में आयोजित विश्व धार्मिक सभा में भारत की तरफ से भारत और हिंदुत्व का प्रतिनिधित्व किया था! इस धार्मिक सभा में विवेकानंद ने हिंदुत्व की विचार धारा को दुनिया के सामने रखी! जिससे लोगो में हिंदुत्व के बारे में आकर्षण और अधिक बढ़ा!

3- स्वामी विवेकानंद नवम्बर 1881 को अपने गुरु  रामकृष्ण परमहंस से पहली बार मिले! रामकृष्ण परमहंस की विचार धाराओं का उन पर ऐसा असर हुआ कि उन्हों ने यही से रामकृष्ण परमहंस को अपना गुरु स्वीकार कर लिया!

4- 16 अगस्त 1886 को रामकृष्ण की मृत्यु हो गयी। रामकृष्ण ने विवेकानंद को सिखाया था! की इंसानों की सेवा करना भगवान् की पूजा करने से भी बढ़कर है!

ये भी पढ़े: पेड़ में बदलता जा रहा है इस लड़की का शरीर,डॉक्टर भी देख पढ़ गए अचम्भे में

5- सन 1871 में स्वामी विवेकानंद ने 8 साल की उम्र में  ईश्वर चंद्र विद्यासागर के मेट्रोपोलिटन संस्थान में दाखिला लिया! 1879 में विवेकानंद एक मात्र छात्र थे! जिन्होंने प्रेसीडेंसी कॉलेज प्रवेश परीक्षा में प्रथम डिवीजन अंक प्राप्त किये थे! 4 जुलाई 1902 को 39 साल की आयु में बेलूर मठ में ही स्वामी विवेकानंद की मृत्यु हो गयी!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here