PM केयर फंड के नाम पर फर्जी वेबसाइट बना 52 लाख रुपए उड़ाए
PM केयर फंड के नाम पर फर्जी वेबसाइट बना 52 लाख रुपए उड़ाए

हजारीबाग: कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए हर एक व्यक्ति प्रधान मंत्री राहत कोष में अपनी इच्छा अनुसार रुपये दान कर रहे है! वही कुछ ऐसे साइबर ठगी लोग भी है जो इस आपदा को अपना ठगी का जरिया बना रहे है! ठगी से जुड़ी यह घटना जिसमे दो सगे भाई नूर हसन और मो. इस्तेखार ने पीएम केयर रिलीफ फंड डॉट कॉम से एक फर्जी वेबसाइट तैयार किया! जिसमे ये शातिर ठग लोगो से कोरोना वायरस के बचाव के लिए अलग अलग बैंक अकाउंट में दान की अपील करते थे! इन बैंक अकाउंट में खाता धारक का नाम पीएम केयर लिखा गया था! ये शातिर ठग सोशल मीडिया पर लिंक शेयर करके लोगो से कोरोना से बचाव के लिए दान की अपील करते थे!

प्रधानमंत्री के राहत कोष (पीएम केयर्स) के नाम पर ये ठग 200 से अधिक लोगो से 52 लाख रुपये की ठगी कर ली है! इस घटना में वांछित दो अपराधी सगे भाई है जिन्हे पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है! इस पूरी घटना का मुख्य आरोपी अभी फरार बताया जा रहा है जिसका नाम परमेश्वर साव है! पुलिस ने पकड़े गए खाताधारकों के निशानदेही पर परमेश्वर साव के घर पर छापामारी कर बृहस्पतिवार की सुबह उसके अल्टो कार में रखे भारी मात्रा में बैंक पासबुक, चेक बुक, एटीएम कार्ड सहित कई महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद किया है। इस संबंध में यूनियन बैंक(Union Bank)के शाखा प्रबंधक अमित कुमार और पंजाब नेशनल बैंक(Punjab National Bank) के शाखा प्रबंधक सुजीत कुमार सिंह के आवेदन पर संबंधित एक्ट के तहत आपराधिक मामला दर्ज किया गया है।

ये भी पढ़े: रिटायर्ड फौजी ने PM राहत कोष में दान किये 15 लाख रुपये,कहा-देश का पैसा है, उसे ही लौटा रहा हूं

यूनियन बैंक शाखा प्रबंधक के द्वारा 17 लाख 70 हजार 741 रुपये! और पंजाब नेशनल बैंक शाखा प्रबंधक के द्वारा 34 लाख 87 हजार 701.26 रुपये का साइबर क्राइम किये जाना का अपराध लगाया है! इन साइबर ठगो द्वारा दोनों बैंको की शाखा से कुल 52 लाख 58 हजार 442.26 रुपये की धन राशि का साइबर क्राइम करने का अपराध दर्ज हुआ है!

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here